Print

सीमा व्यापार

 

 

1. सीमा व्यापार क्या है?

 

सीमा व्यापार का सामान्य परिचय

 

(स्रोत: वाणिज्य विभाग)

  1. भारत का पूर्वोत्तर क्षेत्र बंग्लादेश, भूटान, चीन, म्यांमार और नेपाल की सीमा से जुड़ा है और सीमा शुल्क अधिनियम, 1962 की धारा 7 के तहत अधिसूचित भू-सीमा शुल्क केंद्रों के जरिए इन देशों के साथ स्थल मार्ग से व्यापार के लिए समझौता किया गया है । बंग्लादेश और भूटान की सीमा पर स्थित एलसीएस के जरिए व्यापार के लिए मुक्त व्यापार समझौता (साफ्टा) है वहीं चीन और म्यांमार के साथ सीमा व्यापार समझौते किए गए हैं ।
  2. सीमा व्यापार हवाई, भूमि या बंदरगाह के जरिए होने वाले व्यापार से भिन्न है क्योंकि बंदरगाहों के जरिए व्यापार के लिए सीमा शुल्क के माध्यम से स्वीकृति की जरूरत होती है और इसका विस्तार व्यापक होता है । इसकी तुलना में सीमा व्यापार अंतर्राष्ट्रीय सीमा के दोनों ओर रह रहे लोगों के द्वारा द्विपक्षीय समझौता सूची से 'वस्तु विनिमय' द्वारा 'ओवरलैंड व्यापार' है।
  3. भारत-म्यांमार सीमा के दोनों ओर जारी पारंपरिक रिवाजों के अनुसार स्थानीय रूप से उत्पादित सामानों के व्यापार के लिए 2 जनवरी, 1994 को भारत और म्यांमार के बीच सीमा व्यापार समझौते पर हस्ताक्षर किया गया और यह 12 अप्रैल, 1995 को आरंभ हुआ । इस समझौते में इस बात की संकल्पना की गई कि सीमा व्यापार मणिपुर के मोर और मिजोरम के जॉखथर और म्यांमार के तामू और रिह सीमाशुल्क पोस्टों के जरिए होगा । 5% सीमा शुल्क के साथ भारत और म्यांमार के बीच सीमा व्यापार में 40 सामानों की अनुमति दी गई है । वर्तमान में अधिकतर सीमा व्यापार मोरे पोस्ट के जरिए संपादित होता है । विगत पांच वर्षों में भारत और म्यांमार के बीच सीमा व्यापार का ब्यौरा इस प्रकार है:

     

     

    वर्ष निर्यात आयात कुल
    2006-07 6.13 2.69 8.82
    2007-08 4.94 1.35 6.29
    2008-09 1.61 0.76 2.37
    2009-10 24.5 8.32 32.82
    2010-11 0.26 3.80 4.16

    म्यांमार के साथ सीमा व्यापार काफी सीमित है और इसका वार्षिक औसत सामान्यतया 1 मिलीयन यूएस $ है ।
  4. सिक्किम के नाथू-ला दर्रे से चीन के साथ सीमा व्यापार सीमा शुल्क मुक्त है ।
  5. ब्यौरे निम्नलिखित खंडों में दिए गए हैं ।

 

 

2. सीमा व्यापार संबंधी आंकड़े

 

एनईआर के लिए सीमा व्यापार संबंधी आंकड़े

 

वित्तीय वर्ष 2010-11

 

(रु. लाख में)

(स्रोत: केंद्रीय उत्पाद और सीमा शुल्क बोर्ड, राजस्व विभाग)

 

क्र.सं. एलसीएस के नाम निर्यात का मूल्य आयात का मूल्य संग्रहित निवल राजस्व शीर्ष पांच विनिमित पण्य वस्तुएं कार्गो वाहनों की संख्या
आयात निर्यात आयात निर्यात
मुख्य आयुक्त, केंद्रीय उत्पाद और सीमा शुल्क का कार्यालय, शिलांग मंडल
1 सुतरकंडी 1954 3073 247 सीमेंट, विविध खाद्य मद और प्लास्टिक मद कोयला और अनबुझा चूना 2182 9238
2 करीमगंज स्टीमर और फेयरी स्टेशन 822 67 12 बनावटी और बुना कृत्रिम रेशा अदरक, नारंगी, सूखी मछली और अन्य खट्टे फल -- --
3. मनकाचर 11 253 45 सीमेंट, बनियान, परदा और धार्मिक किताब कोयला, गोल पत्थर 374 598
4 बोसोरा 16768 शून्य 2 शून्य कोयला और चूना पत्थर - 130493
5 भोलागंज 22373 शून्य 1 शून्य चूना पत्थर, गोल पत्थर और क्वार्टज पत्थर - 116493
6 दाउकी 9720 0.1 92 खाद्य मदें, फायर क्ले, और ईंट कोयला, चूना पत्थर, पशु का कच्चा चमड़ा, क्वार्टज पत्थर,गोल पत्थर, मौसमी फल और फल 17 45644
7 शेलाबाजार 829 शून्य 13 शून्य चूना पत्थर और गोल पत्थर - -
8 बाघमारा 385 शून्य 2 शून्य कोयला - 3550
9 दालु 1890 296 49 सीमेंट कृत्रिम रेशा कोयला 509 10217
10 घासुपारा 6701 शून्य 9 शून्य कोयला - 10217
11 महेन्द्रगंज 362 449 63 कच्चा सूत, कृत्रिम रेशा, खाद्य उत्पाद कोयला. पपड़ीदार पत्थर, गोला पत्थर. सूखी मछली, अदरक 390 1523
12 अगरतला 157 20352 1528 पत्थर, सीमेंट, मछली, पीवीसी पाइप और फर्नीचर शिल्प कागज, वल्कनाइज्ड रबड़ ट्रेड, एक्मेशीप और आम विशिष्ट 37978 48
13 श्रीमंतापुर 6 2488 391 पत्थर, सिमेंट, पोलिमर के प्लास्टिक शीट कच्चा चमड़ा, बुने धागे और सिंथेटिक फिलामेंट -- --
14 खोवाईघाट शून्य 306 42 पत्थर और सिमेंट शून्य -- --
15 मानु 2 459 85 टूटा पत्थर, ईंट और सिमेंट   -- --
16 मुहुरीघाट शून्य 1838 306 पत्थर, ईंट औरसिमेंट शून्य - -
17 पुराना रघनाबाजार 5 68 12 वस्त्र, कॉटन बनियान और अन्य खट्ठे फल - -
18 मोरे 26 380 36 सुपारी जीरा - -
19 हातिसर 4916 39 शून्य परिशोधित शराब एसकेओ, एचएसडीओ,एमएसएलपीजी,चावल और नारंगी प्लाईवुड / ब्लॉक बोर्ड और भूटनीज शराब 250 4512
20 जोखावतार शून्य 4 0.4 सुपारी शून्य -  

 

 

3. सीमा व्यापार समिति

 

सीमा व्यापार समिति[PDF](305.76 KB)

 

 

4. सीमा व्यापार की वस्तुएं – म्यांमार

 

भारत-म्यांमार सीमा व्यापार वस्तुएं

 

(कुल 40 मदें)

 

क्र.सं. पुरानी वस्तुएं
(डीजीएफटी सार्वजनिक नोटिस सं. 289(पीएन)/92-97 दिनांक 10 अप्रैल, 1995)
क्र.सं. अतिरिक्त वस्तुएं
(डीजीएफटी सार्वजनिक नोटिस सं. 106 (आरई-2008)/2004-2009 दिनांक 07.11.2008)
1. सरसों/राजिका बीज 23. साईकिल का अतिरिक्त पुर्जा
2. दाल और बीज 24. जीवनरक्षक दवाएं
3. ताजा सब्जी 25. उर्वरक
4. फल 26. कीटनाशक
5. लहसुन 27. सूती रेशा
6. प्याज 28. स्टेनलेस स्टील के बर्तन
7. मिर्च 29. पुदीने का सत
8. मसाले (जायफल, जावित्री, लौंग और दालचीनी को छोड़कर) 30. अगरबत्ती
9. बांस 31. मसाले
10. अल्प वन उत्पाद (सागवान को छोड़कर) 32. प्रसाधन सामग्री
11. सुपारी और पत्ते 33. चमड़े का जूता
12. सार्वजनिक उपभोग के लिए खाद्य मदें 34. पेन्ट्स और वार्निश
13. तंबाकू 35. चीनी और नमक
14. टमाटर 36. मॉस्क्यूटो क्वाएल
15. रीड ब्रूम 37. बल्ब
16. तिल 38. ब्लेड
17. धूप 39. एक्स-रे पेपर और फोटो पेपर
18. धनिया बीज 40. कृत्रिम आभूषण
19. सोयाबीन    
20. सिका हुआ सूर्यमुखी का बीज    
21. कत्था    
22. अदरक    

 

इसके अलावा डीजीएफटी ने स्पष्ट किया है;(नीति परिपत्र सं. 53 (आरई –99)/1997-2002 दिनांक: 29.02.2000 के द्वारा ) कि उपरोक्त जनसूचनाओं में निहित प्रावधानों के अलावा मोरे में भू-सीमा शुल्क के जरिए दोनों देशों के बीच अन्य सभी सामानों में 'सामान्य व्यापार' की भी अनुमति है जो विश्व के किसी अन्य देश के साथ अंतरराष्ट्रीय व्यापार पर लागू होने वाले सीमा शुल्कों की अदायगी के अधीन है ।

 

 

6. म्यांमार सीमा पर "सामान्य" व्यापार

 

भारत-म्यांमार सीमा, मोरे और जावखातर में सीमा व्यापार और एमएफएन व्यापार (सामान्य व्यापार) का समकालिक संचालन

 

  1. भारत-म्यांमार सीमा पर रियायती दर और कतिपय शर्तों पर 40 द्विपक्षीय सहमत वस्तुओं के सीमा व्यापार की अनुमति है। इसके अलावा सामान्य/एमएनएफ व्यापार की भी अनुमति है ।
  2. डीजीएफटी ने यह स्पष्ट किया है ((नीति परिपत्र संख्या 53 (आरई–99)/1997-2002 दिनांक: 29.02.2000) [PDF](5.5 KB)) कि अधिसूचना सं. 9/95-कस्टम्स दिनांक 6.3.1995[PDF](12.21 KB) ( भारत म्यांमार सीमा पर 22 सामानों के सीमा व्यापार के लिए) और अधिसूचना सं. 62/2010-कस्टम्स दिनांक 12.5.2010[PDF](54.35 KB) (अतिरिक्त 18 वस्तुओं के लिए), विश्व के किसी अन्य देश के साथ अंतरराष्ट्रीय व्यापार पर लागू होने वाले सीमा शुल्कों की अदायगी के अधीन मोरे में भू-सीमा शुल्क के जरिए दो देशों के बीच अन्य सभी सामानों में 'सामान्य व्यापार' की भी अनुमति है ।
  3. “भारत-म्यांमार सीमा व्यापार केंद्रों पर सीमा व्यापार को सामान्य व्यापार में परिवर्तित करना' के संबंध में श्री सतीश कुमार रेड्डी, निदेशक (आईसीडी), केंद्रीय उत्पाद और सीमा शुल्क बोर्ड, राजस्व विभाग के दिनांक 18.10.2010 के का.ज्ञा. सं. 570/04/2003-एलसी”

     

    “अधोहस्ताक्षरी को उपरोक्त विषय पर वाणिज्य विभाग के दिनांक 28.09.2013 के का.ज्ञा. सं. 9/3/2009-एफटी(ईए) का संदर्भ देने और यह कहने का निदेश हुआ है कि व्यापार के तरीके के संबंध में बिना किसी पाबंदी के मोरे और जाओखथर भू-सीमा शुल्क केंद्रों को सीमा शुल्क अधिनियम, 1962 की धारा 7 के तहत अधिसूचित कर दिया गया है । अधिसूचना 62/2010 कस्टम्स द्वारा संशोधित अधिसूचना 9/95 कस्टम्स अधिसूचना में विनिर्दिष्ट केवल 40 वस्तुओं पर 5% की सीमा शुल्क की रियायती दर की अनुमति देता है । तथापि, मौजूदा विदेश व्यापार नीति के प्रावधानों के अनुसार और लागू दरों पर सीमा शुल्क अदायगी के बाद उपरोक्त एलसीएस के जरिए सामान्य व्यापार किया जा सकता है ।”
  4. इस प्रकार 40 विनिर्दिष्ट सामानों पर 5% की रियायती सीमा शुल्क पर सीमा व्यापार किया जाता है, वहीं मोरे और जाओखथर में सामान्य/एमएफएन व्यापार की भी अनुमति है ।

 

 

6. म्यांमार में बिना वीजा के प्रवेश

 

अंतर्राष्ट्रीय सीमा से लगे रिहायशी इलाकों में रह रहे स्थानीय लोगों द्वारा

 

म्यांमार में प्रवेश के लिए सीमित सुविधाएं

 

 

भारत-म्यांमार सीमा पर रह रहे पहाड़ी जनजातीयों की सीमित आवाजाही को सुलभ बनाने के लिए भारत और म्यांमार की सरकारों ने अंतर्राष्ट्रीय सीमा के 16 किमी. के भीतर निवास करने वाले ऐसे लोगों का केवल परमिट के साथ प्रवेश की अनुमति प्रदान की है लेकिन यह प्रवेश बिना वीजा के कतिपय नियम और शर्तों के बिना है । दोनों ओर के स्थानीय नागरिक 16 किमी. के भीतर के क्षेत्र में सीमा के किसी भी ओर दूसरे देश में तीन दिनों तक रुक सकते हैं ।

 

गृह मंत्रालय के दिनांक 21.7.2010 के राजपत्र सं. जीएसआर 611(ई) को देखने के लिए यहां क्लिक करें[PDF](626.42 KB)

 

 

7. सीमा व्यापार के लिए वस्तुएं – नाथू-ला

 

नाथू-ला दर्रा के द्वारा भारत और चीन के बीच व्यापार (सिक्किम)

 

  1. सिक्किम के नाथू-ला दर्रे के जरिए भारत और चीन के बीच व्यापार 6.7.2006 को आरंभ हुआ । भारत-चीन सीमा के दोनों ओर रह रहे लोगों द्वारा स्थानीय रूप से उत्पादित वस्तुओं के आयात-निर्यात मौजूदा प्रचलित परिपाटी के अनुसार स्वीकृत है ।
  2. सार्वजनिक नोटिस संख्या 5-ईटीसी (पीएन)/92-97 दिनांक 20.7.1992 द्वारा भारत और चीन के बीच (नाथू-ला दर्रे में) सीमा व्यापार के तहत अधिसूचित वस्तुएं:
    1. सीमा व्यापार के माध्यम से चीन से भारत में आयात के क्रम में शुल्क से मुक्त वस्तुएं:

       

      1.   बकरी की खाल
      2.   भेड़ की खाल
      3.   बकरी
      4.   घोड़ा
      5.   भेड़
      6.   ऊन
      7.   कच्चा सिल्क
      8.   याक टेल
      9.   याक के बाल
      10.   चीनी मिट्टी
      11.   बोरेक्स
      12.   जाइबेयाइट
      13.   मक्खन
      14.   बकरी के कश्मीरी ऊन
      15.   साधारण नमक

       

    2. सीमा व्यापार में चीन में मुक्त तरीके से निर्यात की जाने वाली वस्तुएं:

       

      1.   कृषि कार्यान्वयन 16.   तंबाकू
      2.   कंबल 17.   नसवार
      3.   कॉपर उत्पाद 18.   सिगरेट
      4.   कपड़े 19.   डिब्बाबंद खाद्य
      5.   वस्त्र 20.   कृषि-रसायन
      6.   साईकिल 21.   स्थानीय औषधि
      7.   कॉफी 22.   रंग
      8.   चाय 23.   मसाले
      9.   जौ 24.   घड़ी
      10.   चावल 25.   जूते
      11.   आटा 26.   कीरोसीन तेल Oil
      12.   सूखे फल 27.   लेखन सामग्री
      13.   सूखे और ताजे फल 28.   बर्तन
      14.   सब्जी 29.   गेहूं
      15.   गुड़ और मिसरी

       

       

  3. वाणिज्य विभाग से संपर्क के लिए यहां क्लिक करें सार्वजनिक नोटिस संख्या 20 (आरई-2006)/2004-2009 दिनांक 13.6.2006.[PDF](49.13 KB)
  4. भारत म्यांमार सीमा पर 5% शुल्क की तरह इन चालीस वस्तुओं पर कोई शुल्क लागू नहीं है । व्यापार की अन्य शर्तें इस प्रकार हैं:
    1. सीमा व्यापार बाजार प्रत्येक वर्ष 1 जून से 30 सितंबर तक खोले जाएंगे ।
    2. सीमा व्यापार बाजार हफ्ते में चार दिन सोमवार से गुरुवार तक भारतीय समयानुसार सुबह 7:30 से अपराह्न 3:30 तक और इस व्यापार के लिए 10 बजे पूर्वाह्न से 6 बजे अपराह्न तक का चीनी समय लागू होगा ।
    3. चीन की तरफ से सिक्किम में प्रवेश करने वाले प्रत्येक वाहन पर 50 रुपये की परमिट फीस ली जाएगी । उसी प्रकार चीनी सीमा में रेंकिंगांग स्थित व्यापार मार्ट प्वाइंट तक जाने के लिए प्रत्येक वाहन से 5 युआन (एक युआन=5 रुपये) की फीस ली जाएगी ।
Page Maintained By: 
सुश्री मर्सी Epao, उप सचिव

गतिविधियां

क्षमतानिर्माण और तकनीकी सहायता

वित्त मंत्रालय का एनई पैकेज-एसआईडीएफ

एनईआर विजन 2020

एनई राज्यों के लिए प्रधानमंत्री पैकेज

विकास सेमिनार