Print

मंत्री, पूर्वोत्तर क्षेत्र विकास विभाग

 

 

 

डॉ. जितेन्द्र सिंह

एमबीबीएस (स्टेनले, चेन्नई)

एमडी मेडिसिन, फेलोशिप (एम्स, नई दिल्ली)

एमएनएएमएस डायबीटीज और एंडोक्रिनॉलॉजी,

 

राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार),

उत्तर पूर्वी क्षेत्र विकास मंत्रालय 

 

16 वीं लोकसभा (भारतीय संसद का निचला सदन) में जम्मू और कश्मीर राज्य के उधमपुर चुनाव क्षेत्र से 2014 में निर्वाचित

केंद्रीय राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), विज्ञान और प्रौद्योगिकी, भू-विज्ञान, प्रधानमंत्री के कार्यालय में राज्य मंत्री, कार्मिक और लोक शिकायत एवं पेंशन मंत्री, परमाणु ऊर्जा एवं अंतरिक्ष   

डॉ. जितेन्द्र सिंह मधुमेह रोग के अंतर्राष्ट्रीय ख्यातिप्राप्त लोकप्रिय विशेषज्ञ, डायबीटीज एवं एंडोक्रिनॉलॉजी के प्रोफेसर, प्रख्यात बुद्धिजीवी, लेखक, डायबीटीज रोग विषय पर आधारित सभी प्रमुख राष्ट्रीय एवं दक्षिण-एशियाई सम्मेलनों में आमंत्रित विद्वान एवं सामाजिक कार्यकर्ता हैं ।

 

 

o    पूर्व अध्यक्ष, नेशनल साइंटिफिक कमेटी डायबीटीज, रिसर्च सोसायटी फॉर स्टडी ऑफ डायबीटीज इन इंडिया (आरएसएसडीआई-2013

o    आरएसएसडीआई के कार्यकारी और अनुसंधान कमेटी के सदस्य

o    संयुक्त सचिव, डायबीटीज इन प्रेगनेंसी स्टडी इंडिया (डीआईपीएसआई)

o    डायबीटीज इंडियाके कार्यकारी बोर्ड के सदस्य

o    एलसेवियर प्रकाशन के पैनल के लेखक और सलाहकार

o    पूर्व सदस्य, राष्ट्रीय सलाहकार समिति,  जर्नल ऑफ एसोसिएशन ऑफ फिजीशियन ऑफ इंडिया (जेएपीआई)

o    संपादक मंडल के पूर्व सदस्य, जर्नल ऑफ इंडियन मेडिकल एसोसिएशन, (जेआईएमए)

o    रेफरी/रीव्यूअर इंटरनेशनल जर्नल ऑफ डायबीटीज इन डेवलपिंग कंट्रीज” (आईजेडीडीसी)

o    इंस्पेक्टर, मेडिकल काउंसिल ऑफ इंडिया (एमसीआई) एवं एमडी, डीएनबी आदि के परीक्षक

 

पुरस्कार एवं उपलब्धियां

 जम्मू और कश्मीर राज्य के पहाड़ी जिले डोडा के दूरस्थ गांव के निवासी श्री सिंह ने अपने और अपने राज्य का नाम रौशन किया ।

o    छात्र जीवन से ही समाजसेवा एवं जनसेवा के लिए समर्पित रहे हैं ।

o    समाज सेवा के लिए प्रोफेसर, मेडिसिन/एंडोक्रिनॉलॉजी के पद से सरकारी सेवा से त्याग पत्र दिया ।

o    भाजपा के राष्ट्रीय टेलीविजन पैनलिस्ट तथा जम्मू और कश्मीर विषय पर पार्टी के मुख्य प्रवक्ता के रूप में अपने कार्य के माध्यम से जम्मू और कश्मीर को राष्ट्रीय मानचित्र पर लेकर आए ।

o    2008 के अमरनाथ भूमि विवाद आंदोलन में ऐतिहासिक भूमिका, अमरनाथ संघर्ष समिति की मूल समिति सदस्य भी रहे । 

o    बड़े पैमाने पर पढ़े जाने वाले 'टेल्स ऑफ ट्रेवेस्टी' सहित प्रेस में पांच हजार से भी अधिक प्रकाशित लेख । 5 पुस्तकों के लेखक श्री सिंह के मोनोग्राम एवं डायबीटीज एवं मेडिसन की विभिन्न किताबों में एमडी के छात्रों के लिए दर्जनों अध्याय प्रकाशित हुए हैं ।

o    श्री सिंह उच्च सत्यनिष्ठा, क्षमता, स्वच्छ छवि और निःस्वार्थ समाज सेवा के लिए जाने जाते हैं ।

o    श्री सिंह पहले ऐसे मेडिकल क्षेत्र के प्रोफेशनल हैं जिन्हें पत्रकारिता के लिए प्रतिष्ठित 'जमना देवी ज्ञान देवी' पुरस्कार से सम्मानित किया गया । उल्लेख मिलता है कि लोकप्रिय स्वतंत्र प्रत्रकार के रूप में राष्ट्रीय क्षेत्रीय प्रेस में  श्री सिंह ने दो हजार से अधिक लेखों का अंशदान किया है । 

o    श्री सिंह ने डायबीटीज के प्रति जागरूकता पर तीन अखिल भारतीय लोकप्रिय पुस्तकों सहित पांच पुस्तकें और तीन मोनोग्राम लिखी हैं  जिसमें से एक 'डायबीटीज मेड इजी' को वर्ष 2002 में प्रगति मैदान, नई दिल्ली में आयोजित विश्व पुस्तक मेले में बेस्ट सेलर श्रेणी में शामिल किया गया था । 

o    पांडिचेरी स्थित जवाहरलाल इंस्टीच्यूट ऑफ पोस्टग्रेजुएट मेडिकल एंड रिसर्च (जेआईपीएमईआर) में 'व्याख्यान के लिए' गोल्ड मेडल प्रदान किया गया ।  

o    वर्ष 2009 में पूर्व केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री श्री गुलाम नबी आजाद द्वारा  अवार्ड ऑफ आउटस्टेंडिंग पर्सनैलिटी'' प्रदान किया गया ।

o     “स्ट्रेस डायबीटीज इन कश्मीरी माइग्रेंट्सपर उनके द्वारा किया गया अनुसंधान कार्य इंटरनेशनल जर्नल ऑफ डायबीटीज इन डेवलपिंग कंट्रीजमें प्रकाशित हुआ तथा विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) ने इसकी प्रशंसा की ।

o    उन्होंने लोकप्रिय मेडिकल जर्नलों के लिए कई मौलिक लेख लिखे, एलसेविएर पब्लिशर्स के लिए डायबीटीज से संबंधित मोनोग्राम लिखे/संपादित किए तथा एसोसिएशन ऑफ फिजिशियन्स ऑफ इंडिया (एपीआई) के वर्ष 2002, 2003, 2004, 2005, 2006, 2007, 2008, 2010, 2011, 2012, एवं 2013 के मेडिसिन अपडेट टेक्स्ट बुक एडिशनों में चैप्टरों का अंशदान किया ।

सभी प्रमुख राष्ट्रीय एवं दक्षिण-एशियाई डायबीटीज सम्मेलनों में आमंत्रित किए गए ।

 

 

 

मंत्रालय के बारे में

प्राप्ति और व्यय

परिणाम रूपरेखा दस्तावेज

सिटीजन चार्टर

विज्ञापन एवं टेंडर

कार्यक्रम और घोषणाएं

नए निरीक्षण नोट

हमसे संपर्क करें

शिकायत निवारण और प्रशासनिक सुधार

सामाजिक मीडिया