Print

परियोजना विवरण

उत्तर पूर्वी राज्यों में एशियाई विकास बैंक से

 

सहायता प्राप्त सड़क निवेश कार्यक्रम

 

 

पृष्ठभूमि

 

चूंकि उत्तर पूर्वी क्षेत्र में सड़क परिवहन मालवाहन और यात्रियों के लिए परिवहन का एक प्रभावी साधन है । इसलिए इस क्षेत्र के सामाजिक और आर्थिक विकास में सड़के निर्णायक भूमिका निभाती हैं । 2005 में आयोजित स्थिति सर्वेक्षण यह दर्शाता है कि इस क्षेत्र की अनुमानित 70% सड़के खराब स्थिति में हैं और मुश्किल से 20% ही मरम्मत योग्य स्थिति में हैं । अधिकांश राज्य राजमार्ग और मुख्य जिला सड़कों की चौड़ाई अपर्याप्त है । इन सड़कों पर औसत यात्रा गति हल्कें वाहनों के मामले में अनुमानतः 40 किलोमीटर प्रति घंटा तथा ट्रकों और बसों के मामले में लगभग 25 किलोमीटर प्रति घंटा पाई गई थी ।

 

एशियाई विकास बैंक से उत्तर पूर्वी क्षेत्र के विभिन्न राज्यों के अधिक ट्रैफिक वाले राज्य राजमार्गों एवं जिला सड़कों में सुधार की दृष्टि से प्रयास करने हेतु सहायता के लिए संपर्क किया गया था । एशियाई विकास बैंक ने उत्तर पूर्वी राज्यों में राज्य सड़कों (राज्य राजमार्ग एवं जिला सड़कों) के उन्नयन और पुनर्निमाण और संस्थागत विकास तथा राज्य लोक निर्माण विभागों के क्षमता निर्माण हेतु व्यवहार्यता अध्ययन करने की दिशा में कार्य करने हेतु प्रारंभिक तकनीकी सहायता परियोजना का अनुमोदन किया है । अंततः प्रस्तावित स्कीम के अंतर्गत ली जाने वाली सड़क की कुल लम्बाई 433.7 कि.मी. हो गई है जो असम, मणिपुर, मेघालय, मिजोरम, सिक्किम और त्रिपुरा राज्यों को कवर करती है ।

 

अनुमोदन

 

इस स्कीम को आर्थिक कार्य संबंधी मंत्रिमंडल समिति ने डोनर मंत्रालय की केंद्रीय प्रायोजित स्कीम के रूप में 19 मई, 2011 को अपना अनुमोदन प्रदान कर दिया है ।

 

क्रियान्वयन अवधि

 

यह 5 वर्षों अर्थात 2011-2016 में क्रियान्वित की जानी है ।

 

क्रियान्वयन व्यवस्था

 

डोनर मंत्रालय क्रियान्वयन अभिकरण है और एशियाई विकास बैंक और प्रतिभागी राज्यों के साथ समग्र समन्वय तथा परियोजना की प्रगति के मानीटर हेतु उत्तरदायी है । डोनर मंत्रालय ने एक केंद्र स्तरीय प्रचालन समिति और परियोजना प्रबंधन यूनिट तथा परियोजना वाले प्रत्येक राज्य में राज्य स्तरीय प्रचालन समिति और परियोजना क्रियान्वयन यूनिटें स्थापित की गईं हैं । परियोजना प्रबंधन यूनिट परियोजना मानिटरिंग सलाहकार के कार्य की निगरानी करेगी जबकि परियोजना क्रियान्वयन यूनिटें निर्माण, निगरानी सलाहकारों के कार्य की निगरानी करेगी ।

 

परियोजना लागत

 

अनुमानित परियोजना लागत 1353.83 करोड़ रु. (अमरीकी डॉलर 298.2 मिलियन @ $ 1 = `45.4] होगी । इस कार्यक्रम को एशियाई विकास बैंक द्वारा $ 200 मिलियन अमेरिकी डॉलर की सहायता दो किस्तों में ऋण के रूप में दी जा रही है । अनुमानित लागत और वित्तपोषण के मुख्य अवयव इस प्रकार हैं –

 

(रुपए करोड़ में)

मद भारत सरकार राज्य एशियाई विकास बैंक कुल
I. निवेश घटक        
1. अधिकृत मार्ग सामाजिक एवं पर्यावरणीय उपाय 0.00 27.40 0.00 27.40
2. सिविल कार्य(सड़के एवं पुल) 253.23 0.00 673.84 927.07
3. सड़क रखरखाव 0.00 27.81 0.00 27.81
4. निर्माण निगरानी सलाहकार 0.00 0.00 86.69 86.69
5. उपस्कर 0.00 0.00 6.36 6.36
6. पीआईयू लागत 0.00 6.47 0.00 6.47
II. परियोजना निगरानी एवं क्षमता विकास घटक        
1. परियोजना प्रबंधन सलाहकार 0.00 0.00 4.47 4.47
2. पीएमयू लागत 0.70 0.00 0.00 0.70
आधार लागत (I+II) 253.93 61.68 771.35 1086.96
III. वास्तविक आकस्मिकताy 7.61 1.02 23.14 31.77
IV. मूल्य आकस्मिकता 37.79 4.76 113.52 156.07
V. ब्याज एवं वचनबद्धता प्रभार 79.01 0.00 0.00 79.01
कुल 378.34 67.46 908.01 1353.81

 

Page Maintained By: 
सुश्री वी एल Roui Kullai, निदेशक

गतिविधियां

क्षमतानिर्माण और तकनीकी सहायता

वित्त मंत्रालय का एनई पैकेज-एसआईडीएफ

एनईआर विजन 2020

एनई राज्यों के लिए प्रधानमंत्री पैकेज

विकास सेमिनार